उदयपुर। सुविवि के कुलपति प्रो अमेरिका सिंह ने सोमवार को प्रदेश के उच्चशिक्षा मंत्री भंवरसिंह भाटी से शिष्टाचार भेंट की तथा विश्वविद्यालय में अनवरत हो रहे नवाचारों और निरंतर चल रही शोध एवं अकादमिक गतिविधियों के बारे में अवगत कराया।

प्रो. सिंह ने उच्च शिक्षा मंत्री के समक्ष प्रस्ताव रख कर बताया कि विश्वविद्यालय विद्यार्थियों की सुविधा के लिए सीएसआर के तहत जयपुर में 50 कमरों का एक गेस्ट हाउस बनाने की मंशा रखता है। प्रस्ताव को उच्च शिक्षा मंत्री ने सराहा ।
विश्वविद्यालय के प्रवक्ता डॉ कुंजन आचार्य ने बताया कि सोमवार को कुलपति प्रोफेसर सिंह ने जयपुर में उच्च शिक्षा मंत्री भंवरसिंह भाटी से मुलाकात करके विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित की जा रही गतिविधियों के बारे में विस्तार से बताया एवं भविष्य की योजनाओं एवम संचालित होने वाले विभिन्न पाठ्यक्रमों की भी विस्तृत जानकारी साझा की ।

चर्चा के दौरान प्रो सिंह ने उच्च शिक्षा मंत्री को बताया कि जनजाति बहुल सुखाड़िया विश्वविद्यालय के छात्रों को जयपुर में विभिन्न कारणों से आना पड़ता है। प्रतियोगी परीक्षाओ और शोध संबंधी कारणों से भी छात्रों को प्रायः राजधानी आना पड़ता है।

विश्वविद्यालय के जनजातीय छात्र जयपुर के महंगे होटलों के किराए और गेस्ट हाउस के खर्चे वहन करने में असमर्थ रहते है इसलिए कई बार छात्रों को बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन या खुले में फुटपाथ पर भी सोना पड़ता है। इसके साथ ही विश्वविद्यालय के शिक्षकों एवम कर्मचारियों को भी विभिन्न कार्यों से जयपुर आना पड़ता है इसलिए यह प्रस्तावित किया गया कि राजस्थान विश्वविद्यालय के परिसर में मोहनलाल सुखाड़िया विश्वविद्यालय का 50 कमरों का सुसज्जित गेस्ट हाउस बनाया जाए।

इस संबंध में कुलपति ने शिक्षा मंत्री के सम्मुख यह प्रस्ताव रखा और बताया कि इसके निर्माण में विश्वविद्यालय पर कोई वित्तीय भार नहीं आएगा और इसका निर्माण कॉरपोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी के तहत प्राप्त अनुदान राशि से निर्मित करवाया जाएगा। इस गेस्ट हाउस का नाम ‘मेवाड़ सदन’ रखा जाएगा। मंत्री ने प्रस्ताव की सराहना की। कुलपति प्रो सिंह ने बताया कि गेस्ट हाउस के स्थान चयन करने के लिए राजस्थान विश्वविद्यालय के कुलपति से भी चर्चा की जाएगी।

About Author

Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *