उदयपुर के जंगलों में अब ये नए टूरिस्ट प्वाइंट शुरू, राज्यपाल और वन मंत्री ने किया शुभारंभ

उदयपुर। विश्व पटल पर पर्यटन के क्षेत्र में अपनी विशेष पहचान रखने वाले उदयपुर शहर के लिए सोमवार का दिन सौगातों भरा रहा। लेकसिटी को वन विभाग की ओर से सोमवार को विभिन्न विकास कार्यों व नवाचारों की सौगात मिली। असम के राज्यपाल गुलाबचंद कटारिया एवं वन, पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री संजय शर्मा ने शहर में बटरफ्लाई पार्क, चिल्ड्रन एडवेंचर जोन, ईको टूयूरिज्म एडवेंचर जोन, लवकुश वाटिका का उद्घाटन एवं उबेश्वर महादेव में जल संरक्षण संरचनाएं, होल्डिंग एरिया तथा सज्जनगढ़ में लॉयन सफारी का शिलान्यास किया।

अंबेरी में बटरफ्लाई पार्क, चिल्ड्रन एडवेंचर जोन, ईको टूयूरिज्म एडवेंचर जोन के शुभारंभ अवसर पर आयोजित समारोह को संबोधित करते हुए कार्यक्रम के मुख्य अतिथि असम के राज्यपाल श्री कटारिया ने कहा कि हमारे पुरखों ने उदयपुर को जहां बसाया वास्तव में बहुत अच्छी जगह है। चारों तरफ पहाड़ियां है, खुबसूरत झीलें हैं और नैसर्गिक सौंदर्य से परिपूर्ण वातावरण, यह सब पुरखों की देन है। उन्होंने कहा कि मेवाड़ का इतिहास गौरवशाली रहा है और आज मेवाड़ जिस ऊंचाई पर है वह भगवान एकलिंगनाथ की देन है।

उन्होंने कहा कि यह सौभाग्य की बात है कि आज हमें इन सौगातों को शुरू करने का अवसर मिला इसके लिए वन विभाग की पूरी टीम तारीफ के काबिल है। वास्तव में अधिकारियों ने जिस लगन, मेहनत और ईमानदारी ने जो विकास एवं नवाचार किये है उससे पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा और लेकसिटी को नई पहचान।

उन्होंने उदयपुर में वन विकास के लिए कार्यक्रम उपस्थित वन विभाग के पूर्व अधिकारी इंद्रपालसिंह मथारू, राहुल भटनागर, ओ.पी.शर्मा आदि के प्रयासों को सराहनीय बताते हुए उनको धन्यवाद दिया। कटारिया ने कहा कि जिला प्रशासन, नगर निगम, उदयपुर विकास प्राधिकरण, हिन्दुस्तान जिंक, आएएमएसम, डीएमफटी जैसे संगठन सहित सभी उदयपुरवासियों के समन्वित प्रयासों से आज हमारे उदयपुर के आसपास का जंगल हरा-भरा है और हमारी इसी सामूहिक भावना उदयपुर के विकास का पहिया आगे बढ़ रहा है। उन्होंने कहा कि पूर्व में जो पेड़-पौधे हम लगाते आए है वे सभी आज सुरक्षित है और फल-फूल कर विकसित हो चुके है यह खुशी की बात है। उन्होंने इन प्राकृतिक स्थलों को सहेजकर रखने के लिए स्थानीय कार्मिकों व समिति सदस्यों को भी साधुवाद दिया।

डीएमएफटी से जारी हुई त्वरित स्वीकृतियां
कटारिया ने उदयपुर के विकास को गति प्रदान करने के लिए सतत प्रयासरत जिला कलक्टर अरविंद पोसवाल के प्रयासों की सराहना की और डीएमएफटी मद से 208 करोड़ रुपए की त्वरित स्वीकृतियां जारी करने की जानकारी देते हुए कहा कि इससे उदयपुर के विकास को एक नई दिशा मिलेगी। कटारिया ने कहा कि सरकार एवं स्थानीय प्रशासन के स्तर पर उदयपुर का चहुंमुखी विकास हुआ है। कटारिया ने कहा कि जो विकास कार्यों की सौगात आज उदयपुरवासियों को मिली है। उनका सदुपयोग एवं उन्हें मेनटेन रखना हम सभी का दायित्व है।

उदयपुर पर रही प्रकृति की अनूठी कृपा
उन्होंने कहा कि उदयपुर वासियों पर प्रकृति की अनूठी कृपा रही है। आज लवकुश वाटिका के रूप में नए डेस्टिनेशन का शुभारंभ किया है। वहीं सज्जनगढ़ के प्रति पर्यटकों व आमजन का उत्साह लगातार बढ़ता ही जा रहा है। हाल ही यहां पार्क में घडियाल का कुनबा बढ़ा है यह भी अच्छी बात है। आज ही हम लॉयन सफारी व उबेश्वर महादेव जी में जल संरक्षण संरचनाओं का शिलान्यास भी कर रहे है, यह भी एक पाइंट होगा। हमारा गुलाबबाग का बर्ड पार्क भी आज विशेष आकर्षण का केन्द्र बन चुका है। यह वास्तव में उदयपुर के लिए गर्व की बात है। उन्होंने जयसमंद अभयारण के विकास पर जोर देने की बात कही। समारोह में अतिथियों ने बटरफ्लाई विषयक एक पुस्तिका का विमोचन भी किया।

वनमंत्री बोले कटारिया के प्रयास अनुकरणीय
समारोह की अध्यक्षता करते हुए वन, पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री संजय शर्मा ने कहा कि यह गौरव का विषय है कि पर्यटन के क्षेत्र में अपनी विशिष्ट पहचान रखने वाले उदयपुर को वन विभाग के तत्वावधान में कई सौगातें देने का अवसर मिला है। उन्होंने कहा कि नैसर्गिक दृष्टि से समृद्ध उदयपुर में वन विभाग द्वारा विकसित किए गए यह स्थान आगामी दिनों में उदयपुर को और अधिक गौरव प्रदान करेंगे। उन्होंने कहा कि उदयपुर में वन विकास के साथ यहां के चहुंमुखी विकास के लिए गुलाबचंद कटारिया के प्रयास अनुकरणीय है। उन्होंने जिला प्रशासन एवं वन विभाग की पूरी टीम का भी आभार जताया।

इस अवसर पर उदयपुर शहर विधायक ताराचंद जैन, ग्रामीण विधायक फूलसिंह मीणा, जिला कलक्टर अरविंद पोसवाल, एसपी योगेश गोयल, मुख्य वन संरक्षक एस.आर.वी मूर्थी, सभागीय मुख्य वन संरक्षक सुनील चिद्री, उप प्रमुख पुष्कर तेली, समाजसेवी रवीन्द्र श्रीमाली, सहित अन्य स्थानीय जनप्रतिनिधि एवं विभिन्न विभागों के अधिकारी एवं आमजन मौजूद रहे।

Related Posts

उदयपुर में दूषित पानी से एक और मौत, अब तक चार मौतें

उदयपुर। उदयपुर जिले के पोपल्टी गाँव में दूषित जल के पीने से रविवार को एक और मौत हो गई। अब तक तीन जनों की मौत हो चुकी है। कई मरीजों…

RAS-मेन्स : गंगानगर में किसी ईमित्र से निकलवाया कम्प्यूटर भर्ती का एडमिट कार्ड

उदयपुर। उदयपुर में शनिवार को RPSC मेन्स एग्जाम देने आई महिला के पास 4 महीने पुराने कंप्यूटर भर्ती एग्जाम का एडमिट मिला। पूरे मामले को लेकर सामने आया कि उसको…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You Missed

उदयपुर में दूषित पानी से एक और मौत, अब तक चार मौतें

  • July 21, 2024
  • 4 views
उदयपुर में दूषित पानी से एक और मौत, अब तक चार मौतें

RAS-मेन्स : गंगानगर में किसी ईमित्र से निकलवाया कम्प्यूटर भर्ती का एडमिट कार्ड

  • July 21, 2024
  • 1 views
RAS-मेन्स : गंगानगर में किसी ईमित्र से निकलवाया कम्प्यूटर भर्ती का एडमिट कार्ड

बॉलीवुड के महान् पार्श्व गायक मुकेश की जयन्ती पर स्वरांजली का आयोजन

  • July 21, 2024
  • 3 views
बॉलीवुड के महान् पार्श्व गायक मुकेश की जयन्ती पर स्वरांजली का आयोजन

उदयपुर में देशभर के 101 प्रतिभागियों को सम्मानित किया

  • July 21, 2024
  • 3 views
उदयपुर में देशभर के 101 प्रतिभागियों को सम्मानित किया

प्रो विजय श्रीमाली को याद किया : ‘श्रीमाली के होते किसी भी छात्र की पढ़ाई फीस के बगैर रुकी नहीं’

  • July 21, 2024
  • 8 views
प्रो विजय श्रीमाली को याद किया : ‘श्रीमाली के होते किसी भी छात्र की पढ़ाई फीस के बगैर रुकी नहीं’

उमावि भल्लों का गु़ड़ा में अपशिष्ट योद्धा बनने का किया आह्वान

  • July 20, 2024
  • 2 views
उमावि भल्लों का गु़ड़ा में अपशिष्ट योद्धा बनने का किया आह्वान