महासती शांताकंवर की डोल यात्रा में अपार जनसमूह उमड़ा देखे तस्वीरें…


उदयपुर। साधुमार्गी जैन संघ के जैन आचार्यश्री रामेश का चातुर्मास सेक्टर 4 मे था जो 8 नवम्बर को सम्पन्न हुआ । इसी 8 नवम्बर को विगत 37 दिवस से संथारा की साधना मे लीन 85 वर्षीय महासती शांताकंवर जी मसा का 8 नवम्बर को सांय 6 बजे देवलोक गमन हो गया था।
बाद में उनके पार्थिव देह को दर्शन के लिए रखा गया तथा 9 नवम्बर को प्रात 7.30 बजा सेक्टर 4 जैन स्थानक भवन से हजारो जनसमुदाय के साथ डोल यात्रा सेक्टर 3 मोक्ष धाम हेतु रवाना हुई।
पुरे मार्ग मे जय जय नंन्दा जय जय भध्धा व राम गुरु की जय जयकार , शान्ताकंवर सती की जय जय कार के साथ डोल यात्रा मोक्ष धाम की तरफ चल रही थी पुरे रास्ते जैन अजैन सभी दर्शन कर श्रद्धा से नतमस्तक होते दिखे। अपार जन समूह जिसमे उदयपुर जैन समाज के साथ साथ बडीसादडी , मंगलवाड , जयपुर ,जावरा ,भदेसर ,कानोड , गुडली , निम्बाहेडा , मुम्बई , बैगु , चितौड , कांकरोली , मावली , फातृहनगर सहित अनेक जगह से श्रद्धालु डोल यात्रा मे शामिल हुए।
शांन्ताकंवर की जय जयकार के नारो के बिच महासती के नश्वर देह को मुखाग्नी दी गई व महासती का शरीर पंचतत्व मे विलिन हो गया।
महासती के सहयोगि साध्वीयो ने जिस तरह महासती शांताकंवर की सेवा कि वह अनुकरणीय है।
गौरतलब है जैन साध्वी अपने सारे कार्य स्वयं या सहयोगी साध्वी के साथ मिलकर ही करती है सामान्य जन उनके किसी कार्य को नही कर सकता है एसे मे साथी साध्वी ने दिन रात जिस तरह साध्वी की उसकी सभी ने प्रशसा की। निश्चय ही जैन साधु साध्वी का जीवन अद्भुत होता है। महासती ने अपना जीवन एसा बनाया की उनकी मृत्यु पर महोत्सव जैसा माहोल बन गया। गुणानुवाद सभा आयोजित हुई
जैन सिद्धान्त मे व्यक्ति पुजा नही वरन गुणो की पुजा होती है। एसे में साध्वी के देह से आत्मा जाने के बाद उनके गुणो का गुणानुवाद करने को सभा आयोजित हुई। आचार्यश्री रामेश का 9 नवम्बर को सेक्टर 4 जैन स्थानक से विहार होकर सेक्टर 5 पधारना था उसके पूर्व महासती शांताकंवर के देवलोक व देह पंचतत्व विलिन होने के बाद गुणानुवाद सभा आयोजित हुई जिसमे आचार्यश्री रामेश , उपाध्याय राजेश मुनि , आदित्य मुनि सहित कइ साधु साध्वी ने अपने अहोभाव महासती के प्रति रखे। आचार्यश्री रामेश ने कहा कि महासती द्रढ निश्चयी थी उनकी प्रतीज्ञा उनकी ताकत मे आपने अन्तिम मनोरथ की दिशा मे एसा कार्य कर गई जोमे प्रैरणा देता है। जिसका आत्मविश्वास गहरा हे वही अपने निर्णय पर खरा उतरता है। अब क्या होगा का विचार आत्मविश्वासी को नही आता है। जिस उंमग से संथारा ग्रहण किया महासती उस पर खरा उतरी।

वीडियो देखने के लिए क्लिक करे…

Related Posts

उदयपुर के एमबी अस्पताल के वार्डों में लगाई 35 ईसीजी मशीनें, नहीं आना पड़ेगा इमरजेंसी

उदयपुर। एमबी हॉस्पिटल में एनएबीएच मिलने के साथ ही रोगियों की सुरक्षा के लिए नवाचार होने लगे हैं। हाल ही हॉस्पिटल प्रशासन ने सभी वार्डों में इलेक्ट्रोकार्डियोग्राम या ईसीजी टेस्ट…

Breaking : उदयपुर में पार्षद के घर के पास चाकूबाजी, करीब 4 से 5 जनों को चाकू मारा

उदयपुर। उदयपुर के हिरणमगरी क्षेत्र के पानेरियों की मादड़ी स्थित प्रेम शांति बीएड कॉलेज के पास आज रात को चाकू बाजी की घटना हुई।सबसे खास बात यह है कि इसमें…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You Missed

आचार्य हितवर्धन सुरिश्वर ने कहा विनय जीवन की प्रथम सीढ़ी है

  • July 19, 2024
  • 4 views
आचार्य हितवर्धन सुरिश्वर ने कहा विनय जीवन की प्रथम सीढ़ी है

कथा से पहले ही संसार छोड़ दिया…

  • July 19, 2024
  • 4 views
कथा से पहले ही संसार छोड़ दिया…

सांवरिया सेठ मेहमान बनकर पहुंचे

  • July 19, 2024
  • 4 views
सांवरिया सेठ मेहमान बनकर पहुंचे

उदयपुर के एमबी अस्पताल के वार्डों में लगाई 35 ईसीजी मशीनें, नहीं आना पड़ेगा इमरजेंसी

  • July 18, 2024
  • 9 views
उदयपुर के एमबी अस्पताल के वार्डों में लगाई 35 ईसीजी मशीनें, नहीं आना पड़ेगा इमरजेंसी

चांदीपुरा वायरस : सीएमएचओ ने किया हाई अलर्ट क्षेत्र का दौरा

  • July 18, 2024
  • 9 views
चांदीपुरा वायरस : सीएमएचओ ने किया हाई अलर्ट क्षेत्र का दौरा

उदयपुर सांसद-रावत कतिपय लोग युवाओं को भ्रमित कर पत्थरबाज बना रहे

  • July 18, 2024
  • 9 views
उदयपुर सांसद-रावत कतिपय लोग युवाओं को भ्रमित कर पत्थरबाज बना रहे