17 वर्ष से अधिक आयु के युवा मतदाता सूची में करवा सकेंगे पंजीकरण

जयपुर। राज्य के सभी विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों की फोटो युक्त मतदाता सूचियों के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण करने का कार्यक्रम घोषित किया गया है। भारत निर्वाचन आयोग द्वारा निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार राज्य के सभी 200 विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रों में मतदाता सूचियों का प्रारूप प्रकाशन 9 नवंबर 2022 (बुधवार) को किया जाएगा तथा मतदाता सूचियों का अंतिम प्रकाशन 5 जनवरी 2023 (गुरुवार) को किया जाएगा।
मुख्य निर्वाचन अधिकारी प्रवीण गुप्ता ने बताया कि आयोग द्वारा मतदाता सूची में नाम जुड़वाने के लिए अर्हता दिनाँक एक जनवरी के स्थान पर वर्ष में चार बार एक जनवरी, एक अप्रैल, एक जुलाई और एक अक्टूबर निर्धारित की गई है। उन्होंने बताया कि वार्षिक संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम अर्हता तिथि के रूप में वर्ष की एक जनवरी के संदर्भ में किया जाएगा। वे आवेदक जो अर्हता दिनांक एक जनवरी को एवं  बाद की अर्हता दिनांक एक अप्रैल, एक जुलाई और एक अक्टूबर को  पंजीकरण के लिए पात्र हो रहे हैं, वे प्रारूप प्रकाशन की तिथि से मतदाता सूची में नाम जुड़वाने के लिए प्रपत्र-6 में अग्रिम रूप से अपने दावे प्रस्तुत कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि नवीन संशोधित प्रपत्र 1 अगस्त 2022 से प्रभावी हो चुके हैं।
श्री गुप्ता ने बताया कि पुनरीक्षण पूर्व की गतिविधियां 4 अगस्त  से 24 अक्टूबर 2022 तक संचालित की गईं। मतदान केंद्रों के सुव्यवस्थिकरण की कार्यवाही के फलस्वरुप भारत निर्वाचन आयोग से अनुमोदन प्राप्त करने के बाद राज्य में 310 नए मतदान केंद्र नवसृजित किए गए एवं 1 हजार 185 मतदान केंद्रों का समाहितीकरण किया गया है, जिसके परिणाम स्वरूप 875 मतदान केंद्रों की शुद्ध कमी हुई है। पुनर्गठन उपरांत राज्य में मतदान केंद्रों की संख्या 51 हजार 187 हो गई है। 
उन्होंने बताया कि एक जनवरी 2023 की अर्हता के संदर्भ में पूरक एवं एकीकृत प्रारूप मतदाता सूची की तैयारी 25 अक्टूबर से 7 नवंबर तक की जाएगी। एकीकृत फोटोयुक्त मतदाता सूचियों का प्रारूप प्रकाशन 9 नवंबर ,2022 (बुधवार) को किया जाएगा।
इसी क्रम में उन्होंने बताया कि दावे एवं आपत्तियां 9 नवंबर से 8 दिसंबर 2022 तक प्राप्त की जाएंगी। मतदाता सूचियों के संबंधित भाग की प्रविष्टियों का ग्रामसभा, स्थानीय निकाय एवं आवासीय वेलफेयर सोसाइटी के साथ बैठक आयोजित कर पठन एवं सत्यापन का कार्य 12 नवंबर (शनिवार) एवं 26 नवंबर (शनिवार) को किया जाएगा। राजनीतिक दलों के बूथ स्तरीय अभिकर्ताओं के साथ दावे एवं आपतियों के आवेदन पत्र प्राप्त करने के लिए राज्य के सभी मतदान केंद्रों पर विशेष अभियान 13 नवंबर (रविवार) एवं 27 नवंबर (रविवार) को आयोजित किया जाएगा । 

Jaipur Election news


मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि दावे एवं आपत्तियों का निस्तारण 26 दिसंबर 2022 तक किया जा सकेगा। तीन जनवरी 2023 तक हेल्थ पैरामीटरों की जांच एवं मतदाता सूची के अंतिम प्रकाशन के लिए आयोग की अनुमति लेकर डेटाबेस को अद्यतन करना एवं पूरक मतदाता सूची का मुद्रण किया जाएगा। उन्होंने बताया कि मतदाता सूचियों का अंतिम प्रकाशन 5 जनवरी 2023 (गुरुवार) को किया जाएगा।
उन्होंने बताया कि मतदाता सूची में नए मतदाता के रूप में नाम जुड़वाने के लिए प्रपत्र 6 में, मौजूदा निर्वाचक नामावली में नाम जोड़े जाने या दर्ज प्रविष्टियों में आपत्तियों एवं नाम हटाने के लिए प्रपत्र 7 का उपयोग किया जाएगा। श्री गुप्ता ने बताया कि एक ही विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में निवास का स्थानांतरण, एक विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र से दूसरे विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र में निवास का स्थानांतरण एवं प्रविष्टियों में सुधार व अद्यतन के लिए प्रपत्र 8 में आवेदन किया जा सकेगा। साथ ही यह भी जानकारी दी गई कि प्रपत्र 6 एवं प्रपत्र 8 में आवेदन करते समय आधार संख्या भी प्रस्तुत की जा सकती है।
दावे एवं आपत्तियां प्राप्त करने के लिए विशेष अभियान-मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि मतदाताओं की सुविधा को ध्यान में रखते हुए प्रारूप मतदाता सूचियों के संबंध में दावे एवं आपत्तियां प्रस्तुत करने के लिए राज्य में प्रत्येक मतदान केंद्र पर विशेष अभियान की तिथियां 13 नवंबर 2022 (रविवार) एवं 27 नवंबर 2022 (रविवार) निश्चित की हैं। इन तिथियों को बीएलओ मतदान केंद्र पर उपस्थित रहकर दावे एवं आक्षेप प्राप्त करेंगे। 
पुनरीक्षण कार्यक्रम की अवधि में बीएलओ करेंगे महिला मतदाताओं का सत्यापन-श्री गुप्ता ने बताया कि विधानसभावार 25 से 30 वर्ष की आयु वर्ग की 7 लाख 80 हजार 786 मतदाता एवं 31 से 40 आयु वर्ग के मध्य 3 लाख 87 हजार 372 कुल 11 लाख 68 हजार 158 महिला मतदाता हैं। उन्होंने बताया कि महिला मतदाताओं ने शादी के उपरांत भी अपना नाम पूर्व स्थान से नहीं हटाया है या दोहरा नामांकन हुआ हो, इसके साथ- साथ अन्य अशुद्धियों के संबंध में भी वार्षिक संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम- 2023 के दौरान बीएलओ द्वारा घर-घर जाकर सत्यापन किया जाएगा और आवश्यक होने पर संशोधन के लिए नियमानुसार प्रपत्र भरवाए जाएंगे।
17 वर्ष से अधिक आयु के मतदाता करवा सकेंगे पंजीकरण-मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग द्वारा प्रथम बार किए गए नवाचार के द्वारा अब एक जनवरी 2023, एक अप्रैल 2023, एक जुलाई 2023 और एक अक्टूबर 2023 अर्हता तिथियों को 18 वर्ष पूर्ण करने वाले सभी युवा मतदाता भी विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण कार्यक्रम के दौरान मतदाता सूची में अपना नाम जुड़वाने के लिए पंजीकरण करवा सकते हैं। उन्होंने कहा कि मतदाता पहचान पत्र बनने से 2023 के अंत में संभावित आम चुनावों में ये मतदाता अपने मत का प्रयोग कर सकेंगे। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 17 वर्ष से अधिक आयु के 15 लाख से अधिक युवा हैं। इनमें से स्कूली छात्र छात्राओं की संख्या लगभग 6 लाख है। उन्होंने बताया कि स्कूली छात्र छात्राओं  का डाटा शाला दर्पण पोर्टल से बीएलओ को दिया जाएगा और स्कूलों में कैंप लगाकर इन युवा मतदाताओं का पंजीकरण किया जाएगा।
विशेष योग्यजन का पंजीकरण प्रपत्र 8 के माध्यम से-श्री गुप्ता ने बताया कि विशेष योग्यजन के लिए पहली बार प्रपत्र 8 लाया गया है। विशेष योग्यजन इस प्रपत्र के माध्यम से अपना नामांकन स्वयं कर सकते हैं। अधिक से अधिक विशेष योग्यजनों के नामांकन के लिए एनजीओ, विशेष विद्यालयों में अभियान चलाया जाएगा।
मतदाता पहचान पत्र में मोबाइल नंबर जोड़ने से सभी जानकारी मिलेगी ऑनलाइन-मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि मतदाता पहचान पत्र पंजीकरण के समय मोबाइल नंबर, ईमेल आईडी एवं आधार संख्या जोड़ने से मतदाता को ई- इपिक (वोटर आईडी) उपलब्ध करवाया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि नए मतदाता के साथ पुराने मतदाता भी अपना मोबाइल नंबर वोटर आईडी से जुड़वा सकते हैं। उन्होंने ट्रांसजेंडर के मतदाता पहचान पत्र बनाने के लिए सभी अधिकारियों को संवेदनशीलता के साथ कार्य करने के निर्देश दिए। उन्होंने बताया कि मतदाता सूची में नाम जोड़ने के लिए पंजीकरण भारत निर्वाचन आयोग के मतदाता सेवा पोर्टल एनवीएसपी, मोबाइल पर वोटर हेल्पलाइन एप तथा गरुड़ ऐप के माध्यम से भी किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि इस विषय में मतदाता टोल फ्री वोटर हेल्पलाईन नंबर 1950 से भी जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।
इस संबंध में मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने 2 नवंबर को प्रदेश के समस्त संभागीय आयुक्त एवं जिला कलेक्टर के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक आयोजित कर आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

Related Posts

मुख्यमंत्रीजी सूरजपोल चौराहा पर किए प्रयोगों की जांच हो, भाजपा नेता श्रीमाली का पत्र

उदयपुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री भजनलाल शर्मा को भारतीय जनता पार्टी उदयपुर के नेता प्रदीप श्रीमाली ने पत्र लिखकर उदयपुर के सूरजपोल चौराहा पर किए गए प्रयोग की जांच करने की…

साउथ अफ्रीका में राजस्थान का ये युवा 8.50 घंटे में दौड़ा 86 किमी

उदयपुर। उदयपुर के राहुल रांका ने साउथ अफ्रीका में आयोजित अल्ट्रा मैराथन कोमरेट्स-2024 में हिस्सा लिया। उन्होंने यह दौड़ 86 किमी की दौड़ 8.50 घंटे में पूरी की।उदयपुर के मेवाड़ी…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You Missed

घूंघट की ओट से बाहर निकल ग्रामीण महिलायें कर रही अपना व्यवसाय

घूंघट की ओट से बाहर निकल ग्रामीण महिलायें कर रही अपना व्यवसाय

यूसीसीआई उदयपुर की बैठक, उदयपुर सम्भाग में मैन्युफैक्चरिंग इण्डस्ट्रीज जरूरत

यूसीसीआई उदयपुर की बैठक, उदयपुर सम्भाग में मैन्युफैक्चरिंग इण्डस्ट्रीज जरूरत

मुख्यमंत्रीजी सूरजपोल चौराहा पर किए प्रयोगों की जांच हो, भाजपा नेता श्रीमाली का पत्र

मुख्यमंत्रीजी सूरजपोल चौराहा पर किए प्रयोगों की जांच हो, भाजपा नेता श्रीमाली का पत्र

साउथ अफ्रीका में राजस्थान का ये युवा 8.50 घंटे में दौड़ा 86 किमी

साउथ अफ्रीका में राजस्थान का ये युवा 8.50 घंटे में दौड़ा 86 किमी

संजय सिंघल बोले – भारत में पहली बार संस्कृत में कैंपस इंटरव्यू किए

संजय सिंघल बोले – भारत में पहली बार संस्कृत में कैंपस इंटरव्यू किए

मोदी सरकार में मंत्रियों को बांटे विभाग, देखे पूरी सूची किसको कौनसा विभाग दिया

मोदी सरकार में मंत्रियों को बांटे विभाग, देखे पूरी सूची किसको कौनसा विभाग दिया