उदयपुर। हाथीपोल थाना पुलिस ने चाकू से हमला कर लूट करने के मामले में शातिर आरोपी को गिरफ्तार किया। प्रार्थी अनिकेत सिंह चित्रकूट नगर निवासी ने रिपोर्ट पेश की कि दिनांक 9 सितंबर को करीब बजे पर राताखेत से ट्यूशन के बाद वापस मेरी स्कूटी से घर चित्रकूट नगर जा रहा था। स्वरूप सागर से नीचे, रेलवे कॉलोनी, राणा जी मंदिर से थोड़ा आगे पहुंचा कि एक स्प्लेंडर बाइक पर तीन लड़के आये और स्कूटी के आगे अपनी बाईक को लगा मुझे रोक कर मेरी जेब से वन प्लस कंपनी का फोन छीन लिया। जब मैंने मोबाइल वापस मांगा तो मेरे साथ गाली गलौज करते हुए जिसने मोबाइल छीना उस लड़के ने मेरे दाहिने पैर के जाँघ पर चाकू मार दिया। जिससे मेरे पैर से काफी खून निकलने लगा।उसके बाद तीनों लड़के मेरा मोबाइल लेकर मुझे रोड पर पटक कर गिरिजा व्यास बंगले की तरफ भाग गए।

उसने पुलिस को बताया कि एक राहगीर ने मुझे अम्बामाता सैटेलाइट हॉस्पिटल में इलाज हेतु भर्ती करवाया।उसने पुलिस को बताया इनमें से एक लड़के को मैंने एकलव्य कॉलोनी में जब हम किराए पर रहते थे तब देखा था इसलिए उसको शक्ल से जानता हूं। वगैरा रिपोर्ट पर प्रकरण दर्ज कर अनुसंधान प्रारम्भ किया गया। प्रकरण की गम्भीरता को देखते हुए जिला पुलिस अधीक्षक, उदयपुर ने प्रकरण में अज्ञात आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी हेतु दिशा-निर्देश दिये। जिस पर ठाकुर चद्रशील अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, शहर व तपेन्द्र मीणा वृताधिकारी वृत नगर पश्चिम के सुपरविजन में योगेश चोहान थानाधिकारी, हाथीपोल मय टीम द्वारा तकनीकी सहयोग व आसूचना के आधार पर प्रकरण में अली पुरा, आयड नदी के पास से प्रवीण सिहं उर्फ टाइगर को डिटेन किया गया। आरोपी ने पुछताछ में उक्त घटना करना स्वीकार किया गया। उसके खिलाफ उदयपुर के विभिन्न थानों में करीब 10 प्रकरण लूटपाट व मारपीट के दर्ज है।
पुलिस ने बताया कि आरोपी पकडे जाने के डर से मोबाईल फोन नही रखता है। घटना करने के बाद आरोपी राह चलते लोगो के फोन से दोस्तो को फोन कर मिलने की जगह बता मौके से गायब हो जाता है व स्वय की इंस्टाग्राम आईडी को मौके पर कोई व्यक्ति मिलता है तो उसको विश्वास में लेकर उसके मोबाइल में ऑपन कर साथी आरोपी को जो भी मैसेज पहुचाना होता है वह भेजकर आईडी बदं कर देता है। प्रकरण में अग्रिम अनुसंधान जारी है।

About Author

Admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *